बीजेपी नेता बताकर ठगे 5.65 लाख रुपये

नौकरी व लोन का लालच देकर लाखों की ठगी करता था गिरोह ,पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
31



पांवटा साहिब: सरकारी नौकरी और लोन का झांसा देकर लाखों की ठगी वाले रेैकेट के पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस रैकेट ने लोगों से नौकरी और लोन की एवज में 5 लाख 65 हजार की ठगी की थी। कमल कुमार पुत्र ओम प्रकाश गांव क्यारदा डाकखाना मिश्रवाला तहसील पांवटा साहिब ने इस बारे में माजरा थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायतकर्ता ने बताया कि होशियार सिंह के माध्यम से नरेश कुमार निवासी कक्कड माजरा नारायणगढ़ से मिला। उसने बताया वह अपने आपको भाजपा का चैयरमेन बताता है, जिसकी बातचीत हिमाचल सरकार के साथ है वह इन्हे वन विभाग में ड्राईवर की नौकरी दिलाएगा। इसके लिए इसे उनको कुल साढ़े तीन लाख रूपये देने होंगे। इसके बाद लालच में आकर उसने होशियार सिंह के घर पर बीते 8 अक्टूबर को नरेश कुमार उपरोक्त को 70 हजार रुपए कैश दिए।

इसे बताया गया कि नरेश कुमार लोन दिलाने का भी काम करता है। ऐसे में कमल ने धर्म सिंह की मुलाकात नरेश से लोन देने के लिए करवाई। धर्म सिंह ने 10 लाख के लोन के लिए नरेश कुमार को 35 हजार रूपये कैश व पांच हजार रुपये गूगल पे से दिए। इसके बाद होशियार सिंह ने 10 लाख लोन के लिए नरेश कुमार को 75 हजार, कासिम निवासी धौलाकुंआ ने 50 हजार, राजेन्द्र कुमार निवासी पिपलीवाला ने 60 हजार अरशद निवासी मिश्रवाला ने 10 हजार, कमल निवासी कोलर लिए 20 हजार, सनोवर निवासी मिश्रवाला ने 20 हजार, बचित्र सिंह निवासी कोलर ने 25 हजार, अनुप मल्होत्रा निवासी पांवटा साहिब से लोन के लिए 25 हजार, दौलत राम निवासी ब्यास ने 40 हजार कैश दिए। इसमें से कुछ लोगो ने यह पैसा होशियार सिंह के घर पर नरेश कुमार व उसके साथ आए अन्य महेन्द्र पाल, निर्मल सिंह , अनिल कुमार, स्वर्ण लाल को दिए थे। इसके अलावा नरेश कुमार निवासी ब्यास ने अपने बेटे को नौकरी दिलवाने के लिए 60 हजार व नवनीत निवासी कोलर ने बैंक में नौकरी दिलवाने के लिए 70 हजार रुपए नरेश कुमार व इसके साथ आए महेन्द्र पाल, निर्मल सिंह, अनिल कुमार व स्वर्ण लाल को होशियार सिंह के घर कोलर में दिए। उक्त लोगों ने शक होने पर नरेश कुमार व उसके साथियों से जब बात की तो वह इन्हें धमकाने लगे और पैसे न देने की बात कही। इसके बाद इनकी शिकायत माजरा थाना में दर्ज करवाई गई। साथ ही इन्हें लोगों को लोन दिलवाने का लालच देकर होशियार सिंह के घर बुलाया। जब नरेश व उसके अन्य साथी होशियार सिंह के घर पहुंचे तो पुलिस ने इन्हें दबोच लिया। इन सभी आरोपियों ने लोगों से नौकरी दिलवाने के लिए कुल 2 लाख रूपये व लोन दिलवाने के लिए तीन लाख 65 हजार रुपए बेईमानी से प्राप्त किए थे।

डीएसपी वीर बहादुर सिंह ने बताया कि नौकरी और लोन दिलवाने की एवज में लोगों से ठगी के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आगामी कार्रवाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here