बाली को बीजेपी के न्योता से कांग्रेस में गरमाई सियासत

0
269

G S Bali
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मजाक-मजाक में परिवहन मंत्री जीएस बाली को बीजेपी में शामिल होने का न्योता दिया तो कांग्रेस में भी सियासत गरमाने लगी है। हालांकि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती भी इसे मजाक करार चुके हैं, लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं भी टिप्प्णी करने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। गत सांय मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि अगर किसी नेता की विचारधारा कांग्रेस से मेल नहीं खाती है, तो वह पार्टी छोड़ कर अन्य दल में शामलि हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि वैसे भी नियम सिखाने वाली भाजपा कौन होती है?

वहीं दूसरी तरफ पीसीसी अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने परिवहन मंत्री जीएस बाली का बचाव किया है। बाली को केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा के भाजपा में शामिल होने के न्योते पर सुक्खू ने कहा कि जीएस बाली कांग्रेस के कट्टर सिपाही और जुझारू नेता हैं। उनकी कार्यप्रणाली ऐसी है कि वे किसी भी सरकार और मंत्रालय से काम निकालने में समर्थ हैं। काम कराने में बाली का कोई मुकाबला नहीं है। सुक्खू ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जब बाली के कांगड़ा निवास पर आए थे तो भाजपा नेताओं को प्रदेश को मिलने वाले एनएच की लंबाई तक पता नहीं थी। बाली के कामों के लिए भाजपा के केंद्रीय मंत्रियों से मिलना उनके भाजपा में शामिल होने के साथ नहीं जोड़ा जाना चाहिए। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बेहतर कार्य कर रही है और उच्च प्रशासनिक पदों पर अधिकारियों की नियुक्ति करना मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का विशेषाधिकार है। इस पर किसी को सवाल नहीं उठाने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here