आपराधिक मामलों पर नियंत्रण कर बेहतरीन कानून व्यवस्था के किए जाएंगे प्रयास: एसपी

नए साल में पांच प्राथमिकताओं पर रहेगा सिरमौर पुलिस का फोकस

0
105
एसपी डॉ. केसी शर्मा



नाहन: नए साल में सिरमौर पुलिस जिले में और बेहतर कानून व्यवस्था बनाएगी। इसके लिए पुलिस ने पांच मुख्य प्राथमिकताएं निधारित की हैं। यह बात वीरवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय नाहन में एसपी डॉ. केसी शर्मा ने पत्रकार वार्ता में कही। उन्होंने जिलावासियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिला पुलिस लोगों की सुरक्षा और उन्हें बेहतर कानून व्यवस्था देने के लिए वचनबद्ध है। इसके लिए जिला पुलिस ने नव वर्ष में कुछ प्राथमिकताएं निर्धारित की है।

उन्होंने कहा कि सडक़ दुर्घटना, चोरी एवं सेंधमारी के मामलों में कमी लाई जाएगी। इसके लिए जिला में बीट गश्त, नाकाबन्दी को प्रभावशाली ढंग से लागू किया जाएगा। सीसीटीवी कैमरों और ड्रोन कैमरो का प्रयोग किया जाएगा। डॉ. शर्मा ने कहा कि अनसुलझे चोरी एवं सेंधमारी के मामलों को को शत-प्रतिशत सुलझाना और नशे के कारोबार को रोकना जिला पुलिस की प्रमुख प्राथमिकता रहेगी। जिला सिरमौर के नाहन एवं पांवटा साहिब में बेहतर यातायात प्रबन्ध करने के लिए इंटीग्रेटिड ट्रेफिक मैनेजमेंट सिस्टम को लागू किया जाएगा। जिला सिरमौर के प्रत्येक थाना में दो पुलिस कर्मी साईबर सैल नाहन द्वारा प्रशिक्षित किए जाएंगे, ताकि थाना स्तर पर शीघ्र अति शीघ्र साईबर अपराध को सुलझाया जा सके। इसी के साथ-साथ थाना स्तर पर दो-तीन पुलिस कर्मियों को घटनास्थल को सुरक्षित रखने का प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि संगीन अपराधों के घटनास्थल को सुरक्षित रख कर आवश्यक भौतिक एवं वैज्ञानिक साक्ष्यों को जुटाने में मदद मिल सके।


उन्होंने कहा कि सामुदायिक पुलिस योजना के अन्तर्गत नशा निवारण समिति एवं रोड़ सेफ्टी क्लब योजना को प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा। जिससे नशा निवारण समिति की सहायता से नशा के तस्करों को पकड़ा जा सके और रोड़ सेफ्टी क्लब की मदद से वाहन दुर्घटनाओं के मामलों को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिला सिरमौर के अएसपी डॉ. केसी शर्मा अन्वेषणाधिकारियों को अन्वेषण की बारिकियां समझाने, विभिन्न कानून संशोधनो एवं अन्वेषण के दौरान वैज्ञानिक तकनीकियों का प्रयोग करने के लिए हर माह दूसरे एवं चौथे शुक्रवार को पुलिस लाईन नाहन में अन्वेषण की पाठशाला कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा हैं। इसका मुख्य उद्देश्य अन्वेषणाधिकारी पूरी निपुणता के साथ अन्वेषण करें और उनकी कार्यकुशलता भी बढ़ाई जा सके।
डॉ. शर्मा ने कहा कि जिला सिरमौर में पिछले पांच वर्षो में चोरी, सेंधमारी के अनसुलझे मामलों को सुलझाने एवं ऐसे मामलों में अपराधियों का पता लगाने के लिए निरीक्षक सर्वजीत सिंह के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया है। वे इन मामलों की बारीकी से जांच कर रही है। उक्त टीम को अनसुलझे पुराने मामलों को सुलझाने के लिए विशेष दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here